Short Essay On My Childhood In Hindi

बचपन यादों (childhood memory)और उमंग से भरा होता हैं , जब भी मेरे ज़हन(inner soul) में आता हैं दिल खुशियों (happiness) से भर जाता हैं | कितना भोला जीवन(innocent life) था ना दिल में द्वेष था ना कोई चिंता | कल(past and future) का तो कोई नामो निशान न था बस आज(present) में ही जिन्दगी का आनन्द (peace of life) था| ना बीते वक्त (past time )का कोई रोना, ना आपने वाले वक्त (future time) की चिंता | चाँद, सूरज भी साथी थे जो बचपन की कहानियों (childhood stories)में हमेशा हमारे साथ थे | ऐसा प्यारा बचपन जो सदा (always) हमारे साथ होता हैं कभी हम खुद बच्चे (child) होते हैं तो कभी छोटे बच्चो को देख कर वो बचपन हमारे पास लौट आता हैं |

नटखट  बचपन

दिल हँसाता हैं अब उन यादों को जीकर, 
दिल हँसता हैं अब उन यादों को जीकर

जिनमें था अपनों से रूठना,मनाना,
खिलखिलाकर हँसना और हँसाना

चंदा मामा,सूरज चाचा से दुनियाँ सजाना,
तारों को गिन-गिन सो जाना

फिर, एक पंछी की तरह चहचहाना
छोटी सी बात पर मुँह बनाना,

रूठकर नदियों सा आंसू बहाना
चिंता फिक्र का ना था कोई ठिकाना

बस आज में ही था, जिन्दगी का चलते जाना
ऐसा था मेरा बचपन सुहाना, मेरा बचपन सुहाना ||

कर्णिका पाठक

Karnika

कर्णिका दीपावली की एडिटर हैं इनकी रूचि हिंदी भाषा में हैं| यह दीपावली के लिए बहुत से विषयों पर लिखती हैं |यह दीपावली की SEO एक्सपर्ट हैं,इनके प्रयासों के कारण दीपावली एक सफल हिंदी वेबसाइट बनी हैं

Latest posts by Karnika (see all)

Independence Day Essay Independence Day Essay In

Essay On The Importance Of Doordarshan In Hindi

Short Paragraph On Rainy Season In Hindi

Diwali Essay Short Essay About Diwali Festival In English Latest

Essay On Honesty Is Not Virtue But Dishonesty Is A Vice In Hindi

Hindi Language Essays Essay On Our National Language In Hindi

My Teacher Essay For Kids Day Badass My Best Teacher Essay My

Online Hindi Essay Sites

Essays In Hindi Essay On Cow In Hindi Language If I Were A Doctor

Essays In Hindi Essay On Cow In Hindi Language If I Were A Doctor

Essay For Students On Ideal Teacher In Hindi Language

Essay Value Of Time In Hindi

Essay On The Farmer In Hindi

Essay For Kids On My Mother In Hindi

Essay On Students And Discipline In Hindi

Education In Essay Essay Writing On Education System In

Essay On My Daily Routine In Hindi

Essay On Students And Politics Essay On Students And Politics In

Essay On Honesty Dishonesty And Social View In Hindi

Essay On Badminton In Hindi

One thought on “Short Essay On My Childhood In Hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *